नोटबंदी पर बोले अखिलेश यादव, मोदी सरकार में अमीर-गरीब सभी परेशान

नोटबंदी पर बोले अखिलेश यादव, मोदी सरकार में अमीर-गरीब सभी परेशान

लखनऊ-- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज नोटबंदी के मुद्दे पर केन्द्र की बीजेपीनीत सरकार को एक बार फिर घेरते हुए कहा कि केन्द्र के इस कदम से काला धन नहीं खत्म होगा, क्योंकि ‘बड़े लोग’ तो कागजों पर भी चीजें ठीक कर लेते हैं और ऐसे लोग बैंक और एटीएम के आगे लगी कतार में भी नहीं खड़े हो रहे हैं.

अमीर से लेकर गरीब तक सभी परेशान
अखिलेश ने अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक कार्यक्रम में नोटबंदी का परोक्ष रूप से जिक्र करते हुए कहा कि केन्द्र में एक ऐसी सरकार है जिसके शासनकाल में अमीर से लेकर गरीब तक सभी परेशान हैं. अगर आंकड़े को देखें तो 90 प्रतिशत लोग परेशान हैं. सरकार अमीरों का कालाधन निकालने का जो सपना दिखा रही थी, वैसा कुछ भी नहीं हुआ.
उन्होंने कहा ‘‘सरकार जिनके बारे में सपना दिखा रही थी, वे लोग तो लाइन में खड़े नहीं दिखायी दे रहे हैं. वे तो कागजों पर भी अपनी चीजें ठीक कर लेते हैं. कमरों में बैठकर या बड़े-बड़े बुद्धिजीवियों को साथ लेकर अपना आंकड़ा ठीक कर लेते हैं. आम जनता के लिये परेशानी लाने वालों को जनता ही तकलीफ देगी.’’

यूपी के 10 जिलों में बंटेगा नमक!
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को राज्य की जनता को डबल फोर्टीफाइड नमक का तोहफा देते हुए कहा कि कुछ लोग अच्छे दिन का सपना दिखाकर सत्ता में आए थे, लेकिन उनके एक फैसले की वजह से आज देश की 90 फीसदी जनता परेशानी झेल रही है. अखिलेश ने लखनऊ में पांच कॉलीदास मार्ग पर आयरन एवं आयोडीन युक्त समाजवादी नमक योजना के शुभारंभ के मौके पर यह बातें कही. इस योजना के तहत एनीमिया से प्रभावित 10 जिलों में इस नमक का वितरण किया जाएगा.

पहले चरण में एमिनिया से सर्वाधिक प्रभावित मेरठ, मुरादाबाद, फरूखाबाद, इटावा, औरैया, हमीरपुर, फैजाबाद, सिद्धार्थनगर, संतकबीरनगर और मऊ जिलों में यह योजना शुरू हो रही है. इसके तहत कुल 32 लाख 64 हजार 159 राशनकार्ड धारकों को लाभान्वित किया जाएगा.

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने बीजेपी और बीएसपी पर जमकर निशाना साधा. मुख्यमंत्री ने बीएसपी पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य में एक ऐसी सरकार भी आई थी, जिसने सबके लिए दरवाजे बंद कर दिए थे. बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, “एक सरकार तो ऐसी है, जिसने गरीब से लेकर अमीर सबको परेशानी में डाल दिया है. चाहे नोटों का आंकड़ा देख लें 90 फीसदी लोग परेशान दिखेंगे. यही परेशान लोग इस सरकार को भी परेशानी में डालेंगे.”

BPL कार्ड धारकों को 3 Rs/Kg के हिसाब से बांटा जाएगा नमक
अखिलेश ने कहा कि जिन्हें परेशान करने के लिए यह कदम उठाया गया था, वे तो परेशान होते दिख नहीं रहे. कागजों और कंप्यूटरों पर ये आंकड़ा सुधारा जा रहा है. टाटा ट्रस्ट के सहयोग से सरकार ने गरीब परिवारों को आयोडीन वाला नमक बांटने की घोषणा की है. यह डबल फोर्टीफाइड नमक 10 जिलों में बांटा जाएगा, ताकि एनीमिया और कुपोषण को रोका जा सके. एपीएल कार्ड धारकों को यह नमक छह रुपये प्रति किलोग्राम और बीपीएल कार्ड धारकों को तीन रुपए प्रति किलोग्राम के हिसाब से बांटा जाएगा.

10 जिलों में वितरित होगा 60,000 टन नमक
अखिलेश ने कहा कि लगभग तीन करोड़ की आबादी को इसका फायदा मिलेगा. तीन यूनिट तक के कार्ड पर हर माह एक किलोग्राम और तीन यूनिट से ज्यादा के कार्डो पर दो किलोग्राम हर माह यह नमक मिलेगा. एनीमिया से प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रियायती दरों पर आयोडीन युक्त नमक देने की योजना बनाई है. उन्होंने कहा कि 10 जिलों में 60,000 टन नमक वितरित होगा. योजना की निगरानी के लिए प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद विभाग की अध्यक्षता में राज्यस्तरीय निगरानी समिति गठित की गई है.

आपको बता दें कि जिन 10 जिलों में नमक का वितरण किया जाएगा, उनमें मेरठ, मुरादाबाद, फरु खाबाद, इटावा, औरैया, हमीरपुर, फैजाबाद, सिद्धार्थनगर, संतकबीर नगर और मऊ शामिल हैं. इस मौके पर खाद्य एवं रसद मंत्री कमाल अख्तर, हेमराज वर्मा, अभिषेक वर्मा एवं खाद्य एवं रसद आयुक्त अजय चौहान ने कार्यक्रम में आए कुछ लोगों को नमकर बांटकर इसकी शुरुआत की.

LEAVE A COMMENT