अम्मा के बाद मन्नारगुडी खानदान के हाथों में AIADMK की बागडोर

अम्मा के बाद मन्नारगुडी खानदान के हाथों में AIADMK की बागडोर

चेन्नई-- तमाम खींचतान के बाद आखिरकार शशिकला नटराजन ने AIADMK के महासचिव का पदभार संभाला। पदभार संभालने के बाद उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। अपने संबोधन के दौरान दिवंगत सीएम जयललिता को याद करते ही शशिकला नटराजन रों पड़ीं। उन्होंने कहा कि जयललिता ने जिंदगी के 75 सालों तक संघर्ष किया और पार्टी को इस मुकाम तक लेकर आईं। अब हमारी जिम्मेदारी है कि हम पार्टी को आगे बढ़ाएं। पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए उन्होंने कहा कि AIADMK पार्टी अगले 100 सालों तक राज करेगी और हमेशा आगे बढ़ती रहेगी।

तमिलनाडु समेत पूरे देश में जयललिता को लोग अम्मा के नाम से भी जानते थे। ठीक उसी तरह तमिलनाडु के लोग और वहां की राजनीति में एक और परिवार है जो काफी मशहूर है। शशिकला नटराजन के परिवार को वहां के लोग ‘मन्नारगुडी खानदान’ के नाम से भी जानते हैं। पार्टी महासचिव बनने के बाद पार्टी की कमान पूरी तरह अब शशिकला के हाथों में आ चुकी है। पार्टी के हर फैसले में उनकी सहमति जरूरी होगी। पार्टी की रणनीति से लेकर दिशा निर्देश की पूरी जिम्मेदारी महासचिव की ही होती है।

LEAVE A COMMENT